Sunday, 25 June 2017

Password Of the FUTURE!! - Emotional ID - Brainwaves  - In Hindi

दोस्तों आप सभी विजिटरस अपने मोबाइल फोन में टैबलेट में कंप्यूटर में लैपटॉप में बहुत ही मुश्किल टेढ़ा-मेढ़ा वाला पिन या पैटर्न या पासवर्ड या फिर फिंगरप्रिंट्स काम में लेते हैं।  क्या आगे चलकर हम फ्यूचर में इन्ही को काम में लेते रहेंगे।  तो आप इस पोस्ट को आगे पढ़िए और हम आज बात करेगे Emotional ID और Brainwaves के बारे में तो चलिए शुरू करते हैं।

Saturday, 24 June 2017

अगर आप Finger Print स्केनर को काम में लेते है ?? तो इसके बारे में जान ले!

क्या आप जानते फोन का Finger Print Sensor कैसे काम करता है अगर नहीं, तो आज मैं आपको Finger Print Sensor के बारे में बताऊंगा। ये कितने प्रकार के होते हैै??

Thursday, 22 June 2017

#001 Entertenment - Upcomming Movie Mubarakan movie Trailer - Lunched - By  MrTechIndian
करन (अर्जुन) और चरण (अर्जुन) एक जैसे जुड़वां भाई हैं लेकिन उनके व्यक्तित्व पूरी तरह से विविध हैं। करण लंदन में बड़े हो गए हैं जबकि पंजाब में चरन करण गली-चालाक, आकलनशील और चमकदार है, जबकि चरन सरल, आदर्शवादी और उनके दृष्टिकोण में ईमानदार हैं! करन स्वीटी (इलियाना डी क्रूज़) के साथ प्यार में है, जबकि चरन नफीसा (नेहा शर्मा) के साथ संबंध में है। करन के परिवार ने लंदन के सबसे धनी परिवारों में से एक की बेटी बिंकले (आथिया शेट्टी) के साथ करण की शादी को ठीक किया। वह अपने परिवार को इसके बजाय चरण के साथ मैच को ठीक करने के लिए आश्वस्त करता है। संबंधित परिवार इस चरण के अलावा इस विकास से खुश हैं क्योंकि वह नफीसा से शादी करना चाहता है।

Tuesday, 20 June 2017

Blogger SEO Pack 2017  - Complete Explained - In Hindi

दोस्तो, यहा Blogger SEO Meta Tag का आपको पूरा पैकेज Share करुगा। जैसा आप सभी जानते हैं कि Blogspot एक सबसे लोकप्रिय और आसान CMS Blogging प्लेटफॅाम है। और Search Engine Optimization सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। एक User और Search Engine को आपके Page/Post के Title Tag बहुत महत्वपूर्ण है। हमने <head> Tag के बाद <title> Tag डाल दिया। ब्राउज़र का Title Bar और Search परिणाम पर यह Title Tag डिस्प्ले यदि एक Blogspot Blog चलाते हैं, तो आपको अपने Blog के लिए SEO  की आवश्यकता होगी। Blogger के लिए SEO हर Blogger के लिए सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। इस पोस्ट में मैंने Blogger के लिए एक पूरा SEO पैक Share किया है। एक Blog को अलग-अलग Page या Post में अलग-अलग Title Tag जोड़ने की आवश्यकता होगी। तो चलिए शुरु करते है।


Blogger / Blogspot SEO
Blogger के लिए एक SEO Pack में यह सब का उपयोग करे, आप अपने Blog में Keyword Meta Tag भी जोड़ सकते हैं। जिससे Search Bots आपके Blog को समझ सकेंगे। Bloggger Keyword Meta Tag आपके Blog को संक्षेप (Summarized) में बताते हैं, कि, आपके Blog के बारे में क्या है Blog के लिए विवरण(Description) Meta Tag भी महत्वपूर्ण है। विवरण (Description) Meta Tag आपके Page या Search Result पर पोस्ट का सारांश(summary) प्रदान करता है। Search Engine पर आपकी पोस्ट को Indexed करने के लिए यह सबसे महत्वपूर्ण है। Title Meta Tag और Description Meta Tag Blogger SEO के लिए सबसे महत्वपूर्ण है। Blogger Meta Tag Description Tag है <Meta Name = "Description" conten = "YYYY"> यह Blogger के लिए Meta Tag वर्णन है और इसे <head> Title Tag के बाद भी रखना है। चिंता न करें, Blogger में Meta Tag जोड़ने के लिए। Blogger के लिए एक SEO Pack 2017 में सभी बेहतर Search परिणामों के लिए आपकी सहायता कर सकते हैं।
Blogger के लिए Meta Tag आपके Blog की सभी चीज़ों के लिए आवश्यक है। Blogger Meta Tag आपको विभिन्न Search Engine के लिए बेहतर Search परिणामों के लिए सहायता करेगा। इस पोस्ट में मैंने SEO Meta Tag का एक पूरा पैकेज Share किया है। यह आपको बहुत मदद करता है। इंटरनेट के आसपास, आपको Meta Tag Analyst भी मिलते हैं, लेकिन यह आपके लिए Blog का पालन नहीं करेगा। आपको एक पूर्ण Blogger SEO optimization की आवश्यकता होगी आज मैं Search Engine optimization के पूर्ण Meta Tags Share करता हूं। SEO के Optimization Blogger विषय भी Search Result में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

Full Features of SEO Meta Tags

✔Optimized posts title: पहले Search परिणामों पर पोस्ट Title दिखाएं।

✔Optimized blogger comments: Blog की Comment को क्रॉल करने के लिए Search Bot's को सहायता करें।

✔Facebook user name and Page name Compatible: Social meta tag आपको Socialliing के लिए मदद करता है.

✔Optimized Archive pages: अपने Archive Pages को अलग से Separately करे।

✔Optimized Blogger labels: अपने Label Page को अलग से Separately करे।

✔Google, Bing and Alexa verify by verification code: verify ID का उपयोग करके सभी Webmaster Tool की Verify करें।

✔Google + Author name profile picture Compatible: Social meta tag आपको Socialliing के लिए मदद करता है

✔Facebook and Twitter profile compatible: Social Meta Tag आपको Socializing के लिए मदद करते हैं।

✔Convert title on 404 error page: Visitors को Error Page पर रहने पर Blog का Title बदलें।

✔SEO friendly robots.txt file by tag: यह आपके Blog को Search Engine को Index करने के लिए एक संक्षिप्त विचार प्रदान करता है।

✔Allow bots to crawl your site on daily: Meta Tag द्वारा Crawling वाले Robots.

✔Optimized keywords meta tag: आपके मुख्य keyword, जो आपके Blog के बारे में समझने के लिए Search Bot's को सहायता करता है।

यदि आपके Blog में पहले से ही SEO Tag जोड़े गए हैं, तो आपको अपने Blog से पिछले Meta Tag को clear करना होगा। अब Blogger में Meta Tag जोड़ने के लिए शुरू करें और देखें। अब Blogger Dashbord> HTML Edit करें, और <head> के ठीक बाद कोड के नीचे जाएं।

यह भी पढे. :- अगर आप अपने फोन को Root करते हैं तो पहले Root के बारे में जान ले क्या फायदे और क्या नुकसान ??

SEO Meta Tags For Blogger

<!-- All in One SEO Pack for blogger by mrtechindian.com -->
<meta charset='utf-8'/>
<meta content='width=device-width, initial-scale=1, maximum-scale=1' name='viewport'/>
<meta content='blogger' name='generator'/>
<meta content='text/html; charset=UTF-8' http-equiv='Content-Type'/>
<link href='http://www.blogger.com/openid-server.g' rel='openid.server'/>
<link expr:href='data:blog.homepageUrl' rel='openid.delegate'/>
<link expr:href='data:blog.url' rel='canonical'/>
<b:if cond='data:blog.pageType == &quot;index&quot;'>
<title><data:blog.pageTitle/></title>
<b:else/>
<b:if cond='data:blog.pageType != &quot;error_page&quot;'>
<title><data:blog.pageName/> - <data:blog.title/></title>
</b:if></b:if>
<b:if cond='data:blog.pageType == &quot;error_page&quot;'>
<title>Page Not Found - <data:blog.title/></title>
</b:if>
<b:if cond='data:blog.pageType == &quot;archive&quot;'>
<meta content='noindex' name='robots'/>
</b:if>
<b:if cond='data:blog.searchLabel'>
<meta content='noindex,nofollow' name='robots'/>
</b:if>
<b:if cond='data:blog.isMobile'>
<meta content='noindex,nofollow' name='robots'/>
</b:if>
<b:if cond='data:blog.pageType != &quot;error_page&quot;'>
<meta expr:content='data:blog.metaDescription' name='description'/>
<b:if cond='data:blog.homepageUrl != data:blog.url'>
<meta expr:content='data:blog.pageName + &quot;, &quot; + data:blog.pageTitle + &quot;, &quot; + data:blog.title' name='keywords'/>
</b:if></b:if>
<b:if cond='data:blog.url == data:blog.homepageUrl'>
<meta content='YOUR, KEYWORDS, HERE' name='keywords'/></b:if>
<link expr:href='data:blog.homepageUrl + &quot;feeds/posts/default&quot;' expr:title='data:blog.title + &quot; - Atom&quot;' rel='alternate' type='application/atom+xml'/>
<link expr:href='data:blog.homepageUrl + &quot;feeds/posts/default?alt=rss&quot;' expr:title='data:blog.title + &quot; - RSS&quot;' rel='alternate' type='application/rss+xml'/>
<link expr:href='&quot;http://www.blogger.com/feeds/&quot; + data:blog.blogId + &quot;/posts/default&quot;' expr:title='data:blog.title + &quot; - Atom&quot;' rel='alternate' type='application/atom+xml'/>
<b:if cond='data:blog.pageType == &quot;item&quot;'>
<b:if cond='data:blog.postImageThumbnailUrl'>
<link expr:href='data:blog.postImageThumbnailUrl' rel='image_src'/>
</b:if></b:if>
<b:if cond='data:blog.url == data:blog.homepageUrl'>
<b:if cond='data:blog.pageType == &quot;item&quot;'>
<b:if cond='data:blog.pageType == &quot;static_page&quot;'>
<b:if cond='data:blog.url'>
<meta expr:content='data:blog.url' property='og:url'/>
</b:if>
<meta expr:content='data:blog.title' property='og:site_name'/>
<b:if cond='data:blog.pageName'>
<meta expr:content='data:blog.pageName' property='og:title'/>
</b:if>
<meta content='website' property='og:type'/></b:if></b:if></b:if>
<b:if cond='data:blog.postImageThumbnailUrl'>
<meta expr:content='data:blog.postImageThumbnailUrl' property='og:image'/>
<b:else/></b:if>
<link href='/favicon.ico' rel='icon' type='image/x-icon'/>
<link href='https://plus.google.com/GOOGLE+ID/posts' rel='publisher'/>
<link href='https://plus.google.com/GOOGLE+ID/about' rel='author'/>
<link href='https://plus.google.com/GOOGLE+ID' rel='me'/>
<meta content='GOOGLE-WEBMASTER-CODE' name='google-site-verification'/>
<meta content='BING-WEBMASTER-CODE' name='msvalidate.01'/>
<meta content='ALEXA-VERIFY-CODE' name='alexaVerifyID'/>
<meta content='RAJASTHAN, INDIA' name='geo.placename'/>
<meta content='YOUR-NAME' name='Author'/>
<meta content='general' name='rating'/>
<meta content='RAJASTHAN' name='geo.country'/>
<meta content='en_US' property='og:locale'/>
<meta content='en_GB' property='og:locale:alternate'/>
<meta name="language" content="english"/>
<meta content='https://www.facebook.com/Mohit.np' property='article:author'/>
<meta content='https://www.facebook.com/Mrtechindia.rtml' property='article:publisher'/>
<meta content='FACEBOOK-APP-ID' property='fb:app_id'/>
<meta content='FACEBOOK-ADMIN-ID' property='fb:admins'/>
<meta content='@mrtechindian' name='twitter:site'/>
<meta content='@mrtechindian' name='twitter:creator'/>

<!-- End of All in One SEO Pack for blogger by mrtechindian.com -->



Customization

✔YOUR, KEYWORDS, HERE: अपने मुख्य Keywords टाइप करें।

✔GOOGLE+ID: आपका Google+ प्रोफ़ाइल ID (3 बार बदलें)

✔GOOGLE-WEBMASTER-CODE: Google Webmaster Tool Verification Code.

✔BING-WEBMASTER-CODE: Bing webmaster tools verification code.

✔ALEXA-VERIFY-CODE: Alexa Verification code.

✔RAJASTHAN, INDIA: आपका राज्य और देश का नाम।

✔YOUR-NAME: Blog Admin name.

✔India: आपके देश का नाम।

✔English: आपकी content भाषा।

✔Mohit.np: Facebook user name.

✔Mrtechindia.html: Facebook page user name.

✔FACEBOOK-APP-ID: Facebook app id. (Make here)

✔FACEBOOK-ADMIN-ID: Your Facebook ID. (Find here)

✔@mrtechindia: Your Twitter username (replace 2 times).

यह भी पढे. :- अपने ब्लॉग पर सोशल मीडिया के शेयर बटन कैसे लगाएं??

नोट: अपने संपूर्ण Blog को Update करने में यह 24 घंटों तक का समय लग जाएगा।

यह भी पढे. :- अपने ब्लॉग के लिए प्राइवेसी पॉलिसी कैसे बनाएं ??

कुछ शब्द  इस पोस्ट के बारे मे!!
उम्मीद करता हूं आप को यह पोस्ट पसंद आएगी तो आप अपने दोस्तों के साथ Social Media पर जरुर Share करें। दोस्तों अगर आपको कोई प्रॉब्लम आ रही है तो आप मुझे कमेंट करके पूछ सकते हैं। मुझे आपकी मदद करके बहुत खुशी होगी। और उम्मीद करता हूं कि आप  के इस पैक को अच्छे से इस्तेमाल करके मुझे कमेंट में बताएंगे कि आपके ब्लॉग को कितना फायदा हुआ है।

जय हिन्द, वन्दे मातरम!!

Please Share, Support And SUBSCRIBE!!! 

Keep Sharing... Keep Supporting

यह भी पढे. :- 


How to Easily Increase RAM in Android Phones in One Click - Full Explained

दोस्तों बहुत से लोग हैं जो अपने दिमाग में एक सवाल ये घूमते हैं कि अपने Android Phone की RAM को कैसे बढ़ाएं। कुछ बोलते हैं कि मैंने फोन को Root कर लिया है RAM कैसे बढ़ाते हैं वह बता दो तो दोस्तों आप इस पोस्ट को पढ़िए! आज मैं RAM के बारे में  बता रहा हूं कि इसको कैसे बढा सकते है? और इसके फायदे और नुकसान क्या क्या है ?? तो चलिए शुरू करते हैं।
दोस्तों मैं इस पोस्ट को आगे बढाऊ आपको बातो मे घुमाऊ इससे पहले मे आपको अपना एक लाईन मे जो जवाव है वह बता देता हु। उसके बाद में आप पोस्ट को आगे पढ लिजिए, और उसका जो Explosion है वह समझ लीजिएगा।

तो दोस्तो अगर मे आपको RAM बढाने के बारे  मैं बताऊं तो Theoretical फ़ोन की RAM को बढ़ा सकते हैं। Practical या Logically आप अपने फोन में RAM को नहीं बढ़ा सकते। अब मे आपको इसके रीजन बताता हु और थोडा उसको आगे समझता हु तो इस पोस्ट को पढ़िए।

य़ह भी पढे:- What Is SAR ?? Can Mobiles Cause Cancer - Complete Explained - In Hindi

Easily Increase RAM in Android Phones??
दोस्तों RAM है आपके फोन की कंप्यूटर की लैपटॉप की किसी भी ऐसे डिवाइस की जिसमें RAM और ROM का Consepat होता है उसमें जो RAM है वह फास्टेस्ट मेमोरी होती है फास्टेस्ट का मतलब यह कि उस RAM की जो रिड और राइड स्पीड, यानी कि जिस Speed से ऊन डाटा को भेज सकते हैं या जिस स्पीड में हम उन RAM से डाटा को ले सकते हैं वो आपके नॉर्मल हार्ड ड्राइव आपके नॉर्मल मेमोरी कार्ड या आप के फोन के लिए नॉर्मल इंटरनल स्टोरेज से कहीं ज्यादा तेजी से काम होता  है वह इसलिए होता है कि प्रोसेसर वैसे तो Cache Memory का इस्तेमाल करते हैं जो RAM से बहुत तेज होती है। लेकिन RAM उसके बाद में दूसरे नंबर पर आती है।

जो आप अपने सॉफ्टवेयर को चलाते हैं जो कि आप अपने एप्लीकेशन का इस्तेमाल करते हैं जो भी आपका Temp डाटा होता है वह सभी डाटा RAM मे Store होता है ऐसे में जो प्रोसेसर है वह RAM के थ्रू  Interact करता है। मतलब की डाटा का ट्रांसफर RAM के थ्रू होता है और एसे मे RAM का फर्स्ट होना बहुत जरूरी है। अगर RAM फर्स्ट नहीं होगी तो आपका प्रोसेसर चाहे कितना भी Power Full हो, वह कभी भी आपको उतनी Performance नहीं दे पाएगा। मतलब की RAM कितनी तेजी से डाटा नहीं भेज पाएंगी। तो कोई प्रोसेसर उसमे क्या करेगा। इसी तरह से मैं आपको एक बात बता दूं कि आपके कंप्यूटर में आपने देखा होगा कि RAM होती है अगर हम बात करें 4GB और 8GB RAM की तो, वह लगभग 1TB या 2TB की हार्ड ड्राइव के बराबर होती है इसी तरह जो आपके फोन की RAM होती है 2GB, 4GB या DDR3. DDR4. RAM होती है इसकी Cost आपके नॉर्मल मेमोरी कार्ड से या आप के फोन के 16GB य़ा 32GB के इंटरनल से स्टोरेज से या तो बराबर होती है या कभी कभी इससे ज्यादा होती है। ऐसे में कुछ लोग आते हैं कि वह बोलते हैं कि हम हमारे फोन में RAM बढ़ाएंगे 2GB RAM थी और मैंने बढ़ाकर 4GB कर ली है।

य़ह भी पढे:- What Is Radar Technology? - How Radar Work - In Hindi

वो करते कैसे हैं मैं आपको बता देता हु, कि सबसे पहले आपके फोन मे Root Access चाहिए। ठीक है आपने फोन को Root कर लिया। अब आप को RAM बनाने के लिए कुछ एप्लीकेशन का इस्तेमाल करना होता है। जैसे RAM Expander नाम के एप्लिकेशन है वह क्या करती है कि जो आपका मेमोरी कार्ड होता है कुछ स्टोरेज को AS A RAM काम में ले लेती है। या आपके इंटरनल मेमोरी की कुछ स्टोरेज को AS A RAM काम में ले लेती है। लेकिन वह काम मे आ जाएगी, कहने को नाम के लिए RAM बन गयी। लेकिन ऐसा करने से वह आपके सिस्टम प्रोसेसर को और ज्यादा डाउन कर लेता है। यह क्यों करेगी क्योंकि आपके पास में कुछ तो RAM है वह हाई स्पीड है और कुछ जो RAM है वह ना के बराबर ही बेकार सी बन गई है आपने मेमरी कार्ड की इससे वह जो अपनी रिड और राइड स्पीड है वह कभी मैच नहीं कर पाएगी। इसके कारण जब आपके मेमोरी कार्ड से डाटा रिड और राइड होगा तो उसकी Endurance इतनी ज्यादा नहीं होती। उस Parpas के लिए नहीं बना है। इससे आपका कार्ड और इंटरनल स्टोरेज दोनों खराब हो सकती है।

और हा, जब आप अपने मेमोरी कार्ड को RAM बना लोगे तो इसके पीछे क्या लॉजिक है। लेकिन सब लगे पड़े हैं कि मुझे RAM बढ़ानी है 2GB का फोन है, 4GB करनी है 4GB है, 8GB कर लेंगे। ऑनलाइन तरह तरह के आर्टिकल्स पढ़ लेते हैं। उल्टे-सीधे YouTube पर वीडियो देख लेते हैं। कोई भी कुछ भी बोल देता है कि यहां फोन की RAM कैसे बढती है तो वह सब की Theoretical के लिए बढ जाएगी, लेकिन Logically नहीं पढ़ सकती।

तो मेरी रिक्वेस्ट है आपसे कि आप इसके पीछे मत भागो अगर आपके फोन में RAM बहुत कम है तो आप उसको अपग्रेड कर सकते हैं या फिर आप कम एप्लीकेशन को यूज करो अपने फोन को क्लीन रखो, जिससे आपका जो काम है वह बनता रहेगा।

य़ह भी पढे:-  What Is a Server ?? Servers Explained In Detail !!

दोस्तों आज के लिए इतना ही मुझे उम्मीद है आप को यह आर्टिकल पसंद आया होगा और आप भी अपने फोन की रैम बढ़ाने के बारे में नहीं सोचेंगे तो अभी के लिए इतना ही अगर आपका कोई सुझाव है तो नीचे कमेंट करना ना भूले और अगर आप हमारे साथ नहीं जुड़े हैं तो आप Subscribe Box मे ईमेल डाल कर Sumbit किजिए।जिससे आपको एक ईमेल मिल जाएगा। हमे Social Media पर Like और  Follow किजिए। 

जय हिंद, वंदे मातरम!!

Please Share, Support And SUBSCRIBE!!! 

Keep Sharing... Keep Supporting

Thursday, 15 June 2017

How to Take photo Secretly Android Spy Camera Full Tutorial - In Hindi

दोस्तों आपके साथ कभी ऐसा हुआ हो कि आप किसी चीज की फोटो क्लिक करना चाहते हैं। लेकिन क्लिक नहीं कर पाए। वहां पर कोई रोक है फोटो क्लिक करना। तो दोस्तों आज मैं इस पोस्ट में यही बताऊंगा कि आप एक Android App की मदद से सीक्रेटअली फोटो को क्लिक कर सकते हैं। किसी को कुछ पता नहीं चलेगा। तो दोस्तों जानने के लिए इस पोस्ट को पढ़ लिजिए। तो दोस्तों चलिए शुरू करते हैं।
How To Convert Image To Editable Text Using OCR in iSkysoft PDF Editer - In Hindi

दोस्तों हमने अपने Office Homework, Document File , या फिर Book को अगर कोई PDF या कोई भी Document मे बदलना हो तो हमे देख कर टाइप करने की जरूरत पड़ती है। हम Normal Condition  में अपने जो Document होते हैं उन्हें सामने रखते हैं और फिर हम उन को देख कर अपने Computer या Laptop मे टाइप करते हैं जबकि यह बहुत पुराना तरीका है। आज के तारीख में Technology बहुत Develop हो चुकी है। अब जब कभी भी Office Homework या कोई भी Document या Book को Computer या Laptop में टाइप करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आप Optical Character Recognition के नाम का फंक्शन का इस्तेमाल कर, आप इसे TEXT File में बदल सकते हैं  और अगर कोई TEXT File मे EDIT करना चाहते हैं तो उसमे EDIT कर सकते हैं और आप उसमे PDF Document या किसी भी Format मे आप इसे Save कर सकते हैं। अगर आपको यह जानना है। तो इसको पढ़िए और कैसे इस्तेमाल करते हैं। यह मैं आपको आज बताऊंगा तो चलिए शुरू करते हैं।

Saturday, 10 June 2017

What Is SAR ?? Can Mobiles Cause Cancer - Complete Explained - In Hindi

हम सब मोबाइल यूजर्स ने एक बात जो बहुत सुनी है, जिसे हम कहते हैं SAR Value!! चाहे हमने किसी डिब्बे पर देख लिया हो, चाहे हमने कहीं रिव्यु में सुन लिया हो या कहीं अखबार में हमने उसके बारे में पढ़ लिया हो, आज हम जानेंगे SAR Value होती क्या है इससे क्या क्या नुकसान है। और इसको अपने फोन मे कितना है!! कैसे पता करे?? तो चलिए शुरू करते हैं